Home / धर्म और संस्कृति / रब की मेहरबानी
Jo Kuch Bhi Maine Khoya

रब की मेहरबानी

जो कुछ भी मैंने खोया
वो मेरी नादानी है
और जो कुछ भी मैंने पाया
वो रब की मेहरबानी है।

Jo Kuch Bhi Maine Khoya
Wah Meri Nadani Hai
Aur Jo Kuch Bhi Maine Paya
Wah Rab Ki Mehrabani Hai.

कमाल का ताना दिया
आज मंदिर में भगवान ने,
मांगने ही आते हो
कभी मिलने भी आया करो।