Home / धर्म और संस्कृति

धर्म और संस्कृति

हनुमान जयंती - हनुमान पूजन

हनुमान जी के पूजन के समय ध्यान रखें ये बातें

हनुमान पूजन के दौरान न करें ये भूल महावीर हनुमान को महाकाल शिव का 11वां रुद्रावतार माना गया है । इनकी विधिवत् उपासना करने से सभी बाधाओं का नाश होता है। ब्रह्मचर्य का पालन करते हुए हनुमान जन्मोत्सव के दिन हनुमान चालीसा या सुन्दरकांड का पाठ करना चाहिए । लेकिन इस दौरान इन गलतियों से बचना चाहिए :- हनुमान जन्मोत्सव के …

Read More »
दुर्गा सप्तशती पाठ

दुर्गा सप्तशती के पाठ का कम समय में फल प्राप्ति का उपाय

भगवान शिव ने पार्वती से कहा है कि दुर्गा सप्तशती के संपूर्ण पाठ का जो फल है, वह सिर्फ कुंजिकास्तोत्र के पाठ से प्राप्त हो जाता है। कुंजिकास्तोत्र का मंत्र सिद्ध किया हुआ है इसलिए इसे सिद्ध करने की जरूरत नहीं है। जो साधक संकल्प लेकर इसके मंत्रों का जप करते हुए दुर्गा माँ की आराधना करते हैं, माँ उनकी …

Read More »
प्रभु का दीदार

प्रभु का दीदार – प्रार्थना

मन की आँखों से; प्रभु का दीदार करो; दो पल का है अन्धेरा; बस सुबह का इन्तजार करो; क्या रखा है; आपस के बैर में ए यारो; छोटी सी है ज़िंदगी बस, हर किसी से प्यार करो । मुझे तैरने दे या फिर बहना सिखा दे, अपनी रजा में अब तू रहना सिखा दे, मुझे शिकवा न हो कभी भी …

Read More »
हनुमान जी का विवाह

हनुमान जी का विवाह रहस्य

संकट मोचन हनुमान जी के ब्रह्मचारी रूप से तो सभी परिचित हैं । उन्हें बाल ब्रम्हचारी भी कहा जाता है । लेकिन क्या आपने कभी सुना है कि हनुमान जी का विवाह भी हुआ था ?? और उनका उनकी पत्नी के साथ एक मंदिर भी है ?? जिसके दर्शन के लिए दूर दूर से लोग आते हैं । आन्ध्र प्रदेश के …

Read More »