आज का विचार

बिंदास मुस्कुराओ क्या ग़म है

मुस्कुराहट एक कमाल की पहेली है
जितना वो बताती है
उससे कहीं ज्यादा छुपाती है
आँसू की आहट कमाल की सहेली है
जितना बाहर से दिखती है
उससे ज्यादा कहीं अंदर से बरसती है ।

बिंदास मुस्कुराओ क्या ग़म है,
ज़िन्दगी में टेंशन किसको कम है,
अच्छा या बुरा तो केवल भ्रम है,
जिन्दगी का नाम ही कभी ख़ुशी कभी गम है ।

मुस्कुराहट शायरी

बाँटो मुस्कुराहट इतनी कि
किसी आँख में पानी न हो
जियो ज़िन्दगी जिंदादिली से कि
जीना कभी बेमानी न हो.

हँसो तो मुस्कुराती है जिन्दगी,
रोने पे आँसू बहाती है जिन्दगी,
प्यार दो तो सँवर जाती है जिन्दगी,
हाथ बढ़ाओ तो पास आती है जिन्दगी,
जिस नजर से देखो वैसी नजर आती है जिन्दगी,
नजरिया बदलो तो बदल जाती है जिन्दगी।

मुस्कुराहट शायरी

बिखरने दो होंठों पर
हँसी की फुहारों को
प्यार से बात कर लेने से
कोई दौलत कम नहीं होती ।

मुस्कुराहट शायरी

फूल बनकर मुस्कुराना ज़िन्दगी है
मुस्कुराकर गम भूलाना ज़िन्दगी है
जीत कर खुश हुए तो क्या हुआ
हार कर भी मुस्कुराना ज़िन्दगी है।

मुस्कुराना हर किसी के बस का नहीं है,
मुस्कुरा वो ही सकता जो दिल का अमीर हो ।
मस्त रहो मुस्कुराते रहो;
सबके दिलों में जगह बनाते रहो।

सो गए सब ग़मों को भुलाकर ,
शायद कल खुशियों की सुबह हो जाए
मुस्कुरा दो कि ये सुबह तुम्हारी है
कह दो दिल की बात कि
आज दुनिया तुम्हारी है
फैला दो खुशियों का आँचल ऐसे कि
लगे कि बस हर वक्त कमी तुम्हारी है।

ज़िन्दगी भी कितनी अजीब है..
मुस्कुराओ तो लोग जलते हैं ,
तन्हा रहो तो सवाल करते हैं।

मुस्कुराने के बहाने जल्दी खोजो
वरना,
जिन्दगी रुलाने के
मौके तलाश लेगी।

और पढ़िए –

हँसी खुशगवार है, खुशनुमा ये पल हैं ।

मुस्कान और मदद

मुस्कान चेहरे का वास्तविक श्रृंगार

हक़ीक़त जिंदगी की, ठीक से जब जान जाओगे, ख़ुशी में रो पड़ोगे और गमों में मुस्कुराओगे ।

हँस कर जीना दस्तूर है ज़िंदगी का

हँसो तो मुस्कराती है जिन्दगी

Tags
Back to top button
Close

Adblock Detected

Please turn off the Ad Blocker