Home / सुविचार / दोस्ती सोच है, आवाज नहीं 
दोस्ती का मतलब

दोस्ती सोच है, आवाज नहीं 

दोस्ती एक अनमोल रिश्ता-

दोस्ती का मतलब एक प्यारा सा दिल;
जो कभी नफरत नही करता ।
एक प्यारी मुस्कान, जो फीकी नहीं पड़ती,
एक एहसास जो कभी दुःख नहीं देता;
और एक रिश्ता जो कभी खत्म नहीं होता ।

दोस्ती एक एहसास है –


दोस्ती सोच है, आवाज नहीं
कोई आंखो से नहीं देख सकता,
दोस्ती के जज़्बे को
क्योंकि दोस्ती एहसास है,
अंदाज़ नहीं ।

दोस्ती का मतलब  –

friendship status, friendship day

दोस्त शब्द का अर्थ बड़ा ही मस्त होता है,
हमारे “दोष” का जो “अस्त” कर दे,
वही सही मायनों में सच्चा दोस्त होता है ।

दोस्त को दौलत की निगाह से मत देखो

friendship day

दोस्त को दौलत की
निगाह से मत देखो,
वफा करने वाले दोस्त
अक्सर गरीब हुआ करते हैं ।

खूबसूरत हैं वो लम्हे


बहुत खूबसूरत होते हैं,
वो पल;
जिसमें दोस्त साथ होते हैं,
लेकिन उससे भी;
खूबसूरत हैं वो लम्हे,
जब दूर रहकर भी वो;
हमें याद करते हैं ।



मित्रता, आँख और हाथ के संबंध जैसी 


मित्रता का संबंध
आँख और हाथ के रिश्ते जैसा होता है
हाथ को चोट लगती है तो
आँख आँसू बहाती है
और जब आँख रोती है तो
हाथ आँसू पोंछने लगता है ।

चीज कमाल की है दोस्ती

friendship status
कितने कमाल की होती है न दोस्ती,
वजन होता है, लेकिन बोझ नही होती ।

जिया जाए तो ज़िंदगी कम पड़ जाए

friendship
दोस्त शब्द नहीं जो मिट जाए;
उमर नहीं जो ढल जाए;
सफर नहीं जो कट जाए;
ये वो एहसास है,
जिसके लिए जिया जाए तो;
ज़िंदगी कम पड़ जाए ।

friendship
दोस्ती और वफा यकीन पर टिकी होती है,
ये दीवार बड़ी मुश्किल से खड़ी होती है,
कभी फुरसत मिले तो पढ़ना किताब रिश्तों की,
दोस्ती खून के रिश्ते से भी बड़ी होती है ।

friendship
मित्रता एवं रिश्तेदारी
सम्मान की नही
भाव की भूखी होती है
बशर्तें लगाव
दिल से होना चाहिए
दिमाग से नही ।