Home / प्रेरणादायक विचार / ज़िंदगी भोर है सूरज से निकलते रहिए
ho ke mayus

ज़िंदगी भोर है सूरज से निकलते रहिए


Ho Kar Mayus Na Yun Sham Se Dhalte Rahiye
Zindagi Bhor Hai Suraj Sa Nikalte Rahiye
Ek Hi Panv Par Thahroge To Thak Jaoge
Dheere Dheere Hi Sahi Rah Par Sada Chalte Rahiye

हो कर मायूस न यूँ शाम से ढलते रहिए;
ज़िंदगी भोर है सूरज से निकलते रहिए;
एक ही पाँव पर ठहरोगे तो थक जाओगे;
धीरे-धीरे ही सही राह पर सदा चलते रहिए।