अध्यात्म

प्रणाम, परिणाम बदलता है

प्रणाम का महत्व परंपरा और फायदा

ज़िन्दगी में अपनों से बड़ों को
प्रणाम करना सीखिए
क्योंकि
प्रणाम, परिणाम बदल देता है।

प्रणाम करने का एक फायदा यह है कि
इससे हमारा अहंकार कम होता है ।
इन्हीं कारणों से बड़ों को प्रणाम करने की परंपरा को
नियम और संस्कार का रूप दे दिया गया है ।

श्रेष्ठजनों को प्रणाम करना चाहिए और
छोटों को आशीर्वाद देना चाहिए
जबकि अपने समकक्ष से मिलते वक्त “प्रणाम”
और अगर ये बोलने में दिक्कत हो रही हो तो “नमस्कार” कहना चाहिए ।

प्रणाम प्रेम है, प्रणाम
अनुशासन है।
प्रणाम शीतलता है, प्रणाम
आदर सिखाता है।
प्रणाम से सुविचार आते हैं, प्रणाम
झुकना सिखाता है।
प्रणाम क्रोध मिटाता है, प्रणाम
आँसू धो देता है।
प्रणाम अहंकार मिटाता है, प्रणाम हमारी संस्कृति है।
सबको प्रणाम

1 2 3Next page
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button