Home / सुविचार / सच खुद अपना वकील होता है
सच - Sach khud apna wakeel hota hai

सच खुद अपना वकील होता है

झूठ
बेवजह दलील देता है;
सच,
खुद अपना वकील होता है ।

Jhoot
Bewajah Dalil Deta Hai
Sach
Khud Apna Wakeel Hota Hai. 



दिलों को तौलनेवाले,
अभी कुछ लोग बाकी हैं.
मोहब्बत घोलने वाले,
अभी कुछ लोग बाकी हैं.
यकीनन झूठ है, बस झूठ है,
बस झूठ दुनिया में,
मगर सच बोलने वाले,
अभी कुछ लोग बाकी हैं ।

जहाँ पहले से ही शंका हो,
वहाँ विश्वास;
कभी;
अंकुरित नहीं हो पाता ।

झूठ में
आकर्षण होता है,
पर
स्थिरता
सत्य में ही होती है ।

आईने को देख;
चेहरा सोचता होगा,
पता नहीं क्या-क्या दिखलाता है;
और चेहरे को देख,
आईना सोचता होगा;
पता नहीं क्या-क्या छुपाता है ।



Leave a Reply

Your email address will not be published.