Home / सुविचार / किसी को शिकायत न थी
Kisi Ko Shikayat Na Thi

किसी को शिकायत न थी

औरों के लिए जीते थे,
किसी को कोई शिकायत न थी।
अपने लिए जीने का क्या सोचा,
सारा ज़माना दुश्मन हो गया ।

Auron Ke Liye Jeete The
Kisi Ko Shikayat Na Thi,
Apne Liye Jeene Ka Kya Socha,
Saara Zamana Dushman Ban Gaya.