Home / सुविचार / दूसरों को क्षमा करें
क्षमा करना - dusron ko utni jaldi kshama karein

दूसरों को क्षमा करें

क्षमा करना, मनुष्य का काम है ।
प्रेम करना, देवता का काम है ।
घृणा करना, शैतान का काम है ।

दूसरों को
उतनी जल्दी क्षमा करें
जितनी जल्दी आप
अपने लिए ऊपर वाले से चाहते हो ।

Dusron Ko
Utni Jaldi Kshama Karein
Jitni Jaldi Aap
Apne Liye Upparwaale Se Chahte Hain

क्षमा
गलतियों की
होती है,
धोखे की नहीं ।

क्षमा करने से
पिछला समय तो नहीं बदलता
लेकिन इस से भविष्य
सुनहरा हो उठता है ।

जो पहले क्षमा माँगता है;
वह बहादुर होता है ।
जो सबसे पहले क्षमा करता है;
वह शक्तिशाली होता है ।
और जो सबसे पहले भूल जाता है;
वह सबसे अधिक सुखी होता है ।

कमजोर व्यक्ति
कभी क्षमा नहीं कर सकता है
क्षमा करना
शक्तिशाली व्यक्ति का गुण है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.