सुविचार

नजरिया बदलें जीवन बदलें

नजरिया कुछ ऐसा भी…..

कोई हमारी,
गलतियाँ निकालता है तो;
हमें खुश होना चाहिए,
क्योंकि;
कोई तो है;
जो हमें पूर्ण दोष रहित;
बनाने के लिए,
अपना दिमाग और;
समय दे रहा है ।

नजरिए का फर्क

कभी न कहो कि,
दिन अपने ख़राब हैं;
समझ लो कि हम,
काँटों से घिर गए गुलाब हैं ।

दृष्टिकोण, नजरिया, एटीट्यूड पर विचार ……

हमें अक्सर
महसूस होता है कि
दूसरों का जीवन अच्छा है
लेकिन हम भूल जाते हैं कि
उनके लिए
हम भी दूसरे हैं ।

जब तक साँस है,
टकराव मिलता रहेगा ।
जब तक रिश्ते हैं,
घाव मिलता रहेगा ।
पीठ पीछे जो बोलते हैं,
उन्हें पीछे ही रहने दें,
रास्ता सही है तो;
गैरों से भी लगाव मिलता रहेगा ।

बारिश के दौरान सारे पक्षी
आश्रय की तलाश करते हैं 
लेकिन बाज बादलों से ऊपर उड़कर 
बारिश को ही नजरअंदाज कर देते हैं।
समस्या कॉमन है
लेकिन आपका नजरिया (एटीट्यूड –Attitude)
इनमे डिफरेंस पैदा करता है।

नजरिए का फर्क ….

मन खुश है तो
एक बूंद भी बरसात है
दुखी मन के आगे
समंदर की भी
क्या बिसात है ।

सुख हो लेकिन
शांति न हो तो
समझना कि आप
सुविधा को गलती से
सुख समझ रहे हो ।

शख्सियत जितनी अच्छी होगी;
दुश्मन भी उतने ही बनेंगे;
वरना बुरे की तरफ देखता ही कौन है;
क़्योंकि पत्थर भी उसी पेड़ पर फेंके जाते हैं,
जो फलों से लदा होता है ।
कभी भी कहीं भी देखा है किसी को
सूखे पेड़ पर पत्थर फेंकते हुए ।

नजर नहीं सिर्फ नजरिए का फर्क

जीवन में अगर कोई
आपके किए हुए कार्य की
तारीफ न करे तो
चिंता मत करना
क्योंकि आप उस दुनिया में रहते हैं
जहाँ तेल और बाती जलते हैं
पर लोग कहते हैं दीपक जल रहे हैं ।

आप चाह कर भी
लोगों की
धारणा नहीं बदल सकते
इसलिए दुनिया की चिंता न करें
क्योंकि दुनिया के लोग तो
आपका मूल्यांकन
उनकी जरूरत के हिसाब से करते हैं ।

उन पर ध्यान मत दीजिये
जो आपकी पीठ पीछे बुराई करते हैं,
इसका सीधा सा अर्थ है कि
आप उनसे दो कदम आगे हैं ।

हवा में सुनी हुई बातों पर;
विश्वास कर कान के कच्चे लोग;
अक्सर अच्छे दोस्त खो देते हैं;
और ऐसे लोग;
आपकी उन गलतियों पर;
नाराज रहते हैं,
जो आपने कभी की ही नहीं होती हैं ।

कोई मेरा दिल;
दुखाता है;
तो मैं चुप रहना ही;
पसंद करता हूँ;
क्योंकि मेरे जवाब से;
बेहतर;
वक़्त का जवाब होता है ।

छोड़ दो सारे गम
और गिले-शिकवे
बदलने पर मौसम भी
सुहाना लगता है ।

जो आपसे जलते हैं;
उनसे घृणा कभी न करें,
क्योंकि;
यही तो वो लोग हैं जो;
यह समझते हैं कि,
आप उनसे बेहतर हैं ।

बस नजरिए का ही फर्क है
वरना जो सुई
कपड़ा सिल सकती है
वो कपड़ा उधेड़ भी सकती है ।

चलो माना,
दुनिया बहुत बुरी है,
लेकिन तुम तो अच्छे बनो,
तुम्हें किसने रोका है ।
जिदंगी मे अच्छे लोगो की
तलाश मत करो;
खुद अच्छे बन जाओ,
आपसे मिलकर शायद
किसी की तलाश पूरी हो ।

जब लोग तुम्हारे,
खिलाफ बोलने लगें;
तो समझ लो कि,
तुम तरक्की कर रहे हो ।

परेशान मत हुआ करो

परेशान न हुआ करो
सबकी बातों से
कुछ लोग
पैदा ही बकवास
करने को होते हैं ।

कोहरे से
एक अच्छी बात
सीखने को मिलती है कि
जब जीवन में
रास्ता न दिखाई दे रहा हो तो
बहुत दूर तक देखने की कोशिश
व्यर्थ है
एक एक कदम चलते चलो,
रास्ता खुलता जाएगा…!

कोशिश न कर,
खुश सभी को रखने की,
कुछ लोगों की नाराजगी भी
जरूरी है,
चर्चा में बने रहने के लिए ।

जिंदगी में कुछ खोना पड़े तो दो लाईन याद रखना ….
1: जो खोया उसका गम नहीं ,
लेकिन …..
जो पाया है वो किसी से कम नहीं…!!
2: जो नहीं है वो एक ख्वाब है ,
और …….
जो है वो लाजवाब है ….!

खुश रहें मुस्कुराते रहें - नजरिया बदलें जीवन बदलें

मीठी मुस्कान,
तीखा गुस्सा और
नमकीन आँसू;
इन तीनों के स्वाद से,
बनी है रेसिपी ज़िंदगी की।
कभी-कभी गुस्सा,
मुस्कुराहट से भी ज्यादा
स्पेशल होता है,
क्योंकि;
स्माइल तो सबके लिए होती है,
मगर गुस्सा सिर्फ
उसके लिए होता है,
जिसे हम कभी
खोना नहीं चाहते ।
खुश रहिये, मुस्कुराते रहिये !

मिजाज यूँ ही नहीं चिड़चिड़ा कीजिये - नजरिया बदलें जीवन बदलें

नजरिया अपना-अपना ….

मिजाज यूँ ही नहीं;
चिड़चिड़ा कीजिये;
कोई बात छोटी करे;
तो दिल अपना बड़ा कीजिये ।

किसी की नजर में अच्छा हूँ,
तो किसी की नजर में बुरा हूँ,
हक़ीक़त तो ये है,
जिसका नजरिया जैसा है,
उसकी नज़र में मैं वैसा हूँ ।

दिल बड़ा रखिये - नजरिया बदलें जीवन बदलें

दिल बड़ा रखिए;
और लोगों को माफ कर दीजिये,
पर;
समझ इतनी रखिए कि,
उन पर दुबारा भरोसा;
मत कीजिए ।

ज़िन्दगी में भय - नजरिया बदलें जीवन बदलें

आपका नजरिया कुछ ऐसा हो …

ज़िंदगी में जब कुछ ऐसा हो कि,
आपको भय लगे;
तो डरिए मत;
यही तो मौका है,
जब ज़िंदगी आपको जिता कर,
साहसी बना रही है ।

अच्छाई कमजोरी नहीं - नजरिया बदलें जीवन बदलें

नजरिया बदलो नजारा बदल जायेगा –

अगर लोग आपकी
अच्छाई को
आपकी कमजोरी
समझने लगते हैं
तो यह उनकी समस्या है,
आपकी नहीं ।
आप आइना हो,
आइना बने रहो।
फिक्र वो करें
जिनकी शक्लें खराब हैं ।

 नाराज न होना - नजरिया बदलें जीवन बदलें

नाराज न होना कभी,
यह सोचकर कि
काम मेरा
और
नाम किसी का
हो रहा है..?
घी और रुई सदियों से,
जलते चले आ रहे हैं,
और
लोग कहते हैं,
दिया जल रहा है।

गलतियों को नज़रअंदाज़ करें - नजरिया बदलें जीवन बदलें

यदि हर कोई आपसे खुश है,
तो ये निश्चित है कि;
आपने जीवन में बहुत से समझौते किए हैं,
और यदि आप सबसे खुश हैं तो;
ये निश्चित है कि,
आपने लोगों की बहुत सी गलतियों को,
नज़रअंदाज़ किया है ।

“Impossible” को
गौर से देखो, वो खुद कहता है
“I m Possible”
बस, देखने का नजरिया बदल दो और
नामुमकिन को मुमकिन करो।
उदास होने के लिए उम्र पड़ी है,
नज़र उठाओ सामने जिंदगी खड़ी है ।

Tags
Back to top button
Close

Adblock Detected

Please turn off the Ad Blocker