Home / सुविचार / इन्सान की पहचान करनी हो
agar insan ki pehchan karni ho

इन्सान की पहचान करनी हो


अगर इंसान की पहचान करनी हो तो
सूरत से नहीं सीरत से करो
क्योंकि
सोना अक्सर लोहे के ताले में ही रखा होता है।

Agar Insan Ki Pehchan Karni Ho To
Soorat Se Nahi Seerat Se Karo
Kyonki
Sona Aksar Lohe Ke Taale Mein Hi Rakha Hota Hai.

इंसान की पहचान,
दो बातों से होती है ।
एक;
उसका किया हुआ सब्र;
जब उसके पास कुछ न हो,
और दूसरा;
उसका रवैया,
जब उसके पास सब कुछ हो ।