सुविचार

जिंदगी की खूबसूरती

जिंदगी की खूबसूरती यह नहीं है कि
आप कितने खुश हैं ?
खूबसूरत ज़िन्दगी से तो ये पता चलता है कि
आप से मिलकर कितने लोग खुश हुए हैं ।

जिंदगी की खूबसूरती देखने के लिए दूर जाने की जरूरत नहीं

जिंदगी कितनी खूबसूरत है
ये देखने के लिए हमें ज्यादा दूर
जाने की जरूरत नहीं है,
जहाँ हम अपनी आँखें खोल लें
वहीं हम इसे देख सकते हैं। 

जिंदगी की खूबसूरती देखने कुछ बातें जो जरूरी हैं

यदि आपकी आँखें खूबसूरत हैं तो
आप दुनिया को प्यार करेंगे
और यदि आपकी जुबान खूबसूरत है तो
दुनिया आपको प्यार करेगी ।

शिकायत कम और शुक्रिया ज्यादा हो
तो जिंदगी खूबसूरत हो जाती है ।

सबको गिला है,
बहुत कम मिला है,
जरा सोचिए,
जितना आपको मिला है,
उतना कितनों को मिला है ।

ज़िदगी हसीन है इससे प्यार करो
है रात तो क्या सुबह का इंतज़ार करो
मुश्किलें तो लेती हैं इम्तिहान हर किसी का
पर किस्मत से ज्यादा खुद पे ऐतबार करो.

खुशियाँ बटोरते-बटोरते उमर गुजर गई,
पर खुश न हो सके,
एक दिन एहसास हुआ,
खुश तो वो लोग थे जो खुशियाँ बाँट रहे थे ।

जीवन में खुशी का अर्थ
लड़ाइयाँ लड़ना नहीं,बल्कि उन से बचना है।
कुशलतापूर्वक पीछे हटना भी
अपने आप में एक जीत है।

रोटी पर “घी” और
नाम के साथ “जी”
लगाने से,
“स्वाद” और “इज्जत”
दोनों बढ़ जाते हैं ।

किसी ने ईश्वर से कहा,
“मैं ज़िदगी से घृणा करता हूँ।”
ईश्वर ने कहा,
“तुमसे किसने कहा कि ज़िदगी से प्यार करो।
तुम तो बस उसे चाहो जो तुम्हें चाहता हो,
ज़िदगी अपने आप खूबसूरत हो जाएगी।”

ज़िदगी जीने का मक़सद खास होना चाहिए
और अपने आप पर विश्वास होना चाहिए
जीवन में खुशियों की कोई कमी नहीं होती
बस जीने का अंदाज़ होना चाहिए ।

जिंदगी की खूबसूरती पर और सुविचार पढ़ें –

ज़िंदगी भोर है सूरज से निकलते रहिए

जीवन आपसे मुस्कराने को कहता है

Tags
Show More
Back to top button
Close

Adblock Detected

Please turn off the Ad Blocker to visit the site.