Home / प्रेरणादायक विचार / मुसीबतों से निखरती है
musibat se nikharti hai

मुसीबतों से निखरती है

Musibaton Se Nikharti Hai
Shakhsiyat Yaro
Jo Chattano Se Na Uljhe
Wo Jharma Kis Kaam Ka.

मुसीबतों से निखरती है शख्सियत यारो,
जो चट्टानों से न उलझे
वो झरना किस काम का…!!