प्रेरणादायक विचार

अंधेरों से घिरे हों घबराये नहीं

परेशानी पर शायरी,

अंधेरों से घिरे हों घबराये नहीं
क्योंकि सितारों को चमकने के लिए
घनी रात ही चाहिए होती है
दिन की रोशनी नहीं ।

अपने जीवन की तुलना किसी के साथ नहीं करनी चाहिए,
सूर्य और चंद्रमा के बीच कोई तुलना नहीं,
जब जिसका वक्त आता है वो चमकता है।

परेशानी में कोई सलाह मांगे तो
सलाह के साथ अपना साथ भी देना,
क्योंकि सलाह गलत हो सकती है साथ नहीं ।

परेशानी पर प्रेरणादायक सुविचार

अपने जीवन की तुलना
किसी के साथ नहीं करनी चाहिए
सूर्य और चंद्रमा के बीच कोई तुलना नहीं,
जब जिसका वक़्त आता है तब वो चमकता है ।

जीवन में कठिनाईयाँ
हमें परेशान करने के लिए नहीं आती, बल्कि
हमारे अंदर छुपी हुई शक्ति और साहस को
बाहर निकालने के लिए आती है।

परेशानियों के बीच घिरे हों –
कितने ही कष्ट आपके सिर पर हों,
चिंता मत कीजिए ।
ये सारे कष्ट ऐसे ही दूर हो जायेंगे जैसे
धूप के बाद छांव आती है ,
जैसे बदली हट जाती है ,
जैसे अंधेरी रात के बाद सुनहरा प्रभात आता है ।
अतः आप जो भी कार्य करें या कर रहे हैं,
उसे पूर्ण मनोयोग से करें ।

माना कठिनाई आने पर
इंसान अकेला हो जाता है
पर कठिनाई आने पर ही
अकेला व्यक्ति मजबूत होना सीख जाता है
कभी टूटते हैं तो कभी पिघलते हैं
तभी निखरते हैं ।

गलतियाँ, विफलता, अपमान,
निराशा और अस्वीकृति,
ये सभी उन्नति और
विकास का ही एक हिस्सा हैं।
कोई भी व्यक्ति इन सभी पाँचो चीजों का
सामना किये बिना जीवन में
कुछ भी प्राप्त नहीं कर सकता

दूसरों की परेशानी का आनंद ना लें!
कही भगवान आपको वही गिफ्ट ना कर दें ।
क्योंकि भगवान वही देता है,
जिसमें आपको आनंद मिलता है ।

बिखरेगी फिर वही चमक, तेरे वजूद से तू महसूस करना।
टूटे हुए मन को, संवरने में थोड़ा वक्त लगता है।

दुख, तकलीफ परेशानी में प्रेरणा देने वाली हिन्दी शायरी

परेशानी पर शायरी

जो रास्ते के अंधेरों से
हार जाते हैं
वो मंजिलों के उजाले
पा नहीं सकते ।

जो खैरात में मिलती कामयाबी, तो हर शख्स कामयाब होता,
फिर कदर न होती किसी हुनर की और न ही कोई शख्स लाजवाब होता।

अंधेरों की साजिशें, रोज रोज होती है।
फिर भी उजाले की जीत, हर सुबह होती है।

जब जब लोग परेशान हो जाते हैं,
काफ़ी हद तक इंसान हो जाते हैं ।

वक्त अच्छा हो या बुरा हो गुजर ही जाता है
लेकिन बातें और लोग हमेशा याद रहते हैं ।

लगी है मेहंदी पाँव में क्या घूमोगे गाँव में,
असर धूप का क्या जाने जो रहते हैं छाँव में ।

खुद पर यकीन रख ये आसमान का इशारा है,
बस मिलने वाली है मंज़िल कल का सूरज तुम्हारा है ।

वजह खूबसूरत हो ये ज़रूरी नही पर
जो हाथों की लकीरों में न हो ,
उसी को अपनी किस्मत बनाने की
ज़िद होनी चाहिये ।

परेशानी पर शायरी और पढ़ें –

फर्क सिर्फ सोच का होता है

ईश्वर से कुछ चाहो और न मिले

मुश्किल के वक़्त

हौसले बुलंद कर

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button