Home / सुविचार

सुविचार

प्रयासों का अलग मज़ा है - Good Morning images

प्रयासों का अपना अलग मज़ा है

नतीजों की परवाह नहीं मुझे; प्रयासों का अपना अलग मज़ा है । कोयल अपनी भाषा बोलती है, इसलिये आज़ाद रहती है; किंतु तोता दूसरे की भाषा बोलता है, इसलिए पिंजरे में जीवन भर गुलाम रहता है । अपनी भाषा, अपने विचार और; अपने आप पर विश्वास करें । हजारों उलझनें राहों में, और कोशिशें बेहिसाब; इसी का नाम है ज़िन्दगी, चलते …

Read More »
थोड़ी सी अस्त-व्यस्त है

थोड़ी सी अस्त-व्यस्त है फिर भी ज़िन्दगी तू ज़बरदस्त है

थोड़ी सी अस्त-व्यस्त है; फिर भी, जिंदगी तू जबर्दस्त है । इसे जबर्दस्ती मत जिएँ, जबर्दस्त तरीके से जिएँ । रात इकाई, नींद दहाई; ख्वाब सैकड़ा, दर्द हज़ार । जो नहीं है, वह एक ख्वाब है; और; जो है वह लाजवाब है। ज़िन्दगी के हाथ नहीं होते, लेकिन कभी कभी वो; ऐसा थप्पड़ मारती हैं, जो पूरी उम्र याद रहता …

Read More »
लौट आता हूँ वापस घर

लौट आता हूँ वापस घर की तरफ

लौट आता हूँ वापस घर; की तरफ; हर रोज़ थका-हारा, आज तक समझ नहीं आया कि, जीने के लिए काम करता हूँ; या काम करने के लिए जीता हूँ। बचपन में सबसे अधिक बार पूछा गया सवाल – बड़े हो कर क्या बनना है ? जवाब अब मिला है – फिर से बच्चा बनना है । थक गया हूँ, तेरी …

Read More »
हक़ीक़त जिंदगी की

हक़ीक़त जिंदगी की

हक़ीक़त जिंदगी की, ठीक से जब जान जाओगे; ख़ुशी में रो पड़ोगे; और गमों में मुस्कुराओगे । खुद से बहस करोगे तो, सारे सवालों के जवाब मिल जायेंगे; अगर दूसरो से करोगे तो, और नये सवाल खड़े हो जायेंगे । हमारी समस्या का समाधान; केवल हमारे पास है, दूसरों के पास केवल; सुझाव हैं । परिस्थितियाँ; जब विपरीत होती हैं, …

Read More »
नजरिया बदलें जीवन बदलें

नजरिया बदलें जीवन बदलें

कोई हमारी, गलतियाँ निकालता है तो; हमें खुश होना चाहिए, क्योंकि; कोई तो है; जो हमें पूर्ण दोष रहित; बनाने के लिए, अपना दिमाग और; समय दे रहा है । जीवन में अगर कोई आपके किए हुए कार्य की तारीफ न करे तो चिंता मत करना क्योंकि आप उस दुनिया में रहते हैं जहाँ तेल और बाती जलते हैं पर …

Read More »
शुक्रिया ज़िन्दगी

शुक्रिया ज़िन्दगी

शुक्रिया ज़िन्दगी ! जीने का हुनर सिखा दिया, कैसे बदलते हैं लोग, चंद कागज़ के टुकड़ों ने बता दिया, अपने परायों की पहचान को, आसान बना दिया, शुक्रिया ऐ ज़िन्दगी, जीने का हुनर सिखा दिया। और पढ़ें

Read More »
बुराई इसलिए नहीं पनपती

बुराई इसलिए नहीं पनपती

बुराई सिर्फ इसलिए नहीं पनपती कि; बुरा करने वाले लोग बढ़ गये हैं; बल्कि इसलिए भी बढ़ती है कि; सहन करने वाले लोग बढ़ गये हैं । माना दुनिया बुरी है; सब जगह धोखा है, लेकिन हम तो अच्छे बने हमें किसने रोका है । कभी हार नही मानती, ये बुराई की आदत है, और जो कभी हारती ही नही …

Read More »