Home / अनमोल वचन / ज़िन्दगी न मुस्कुराई
zindagi na muskurai

ज़िन्दगी न मुस्कुराई

मिटटी भी जमा की
खिलौने बना कर भी देखे
ज़िन्दगी न मुस्कुराई
फिर बचपन की तरह.

Mitti Bhi Jama Ki
Khilaune Bana Kar Dekhe
Zindagi Na Muskurai
Fir Bachpan Ki Tarah.