परिवार से बड़ा कोई धन नहीं

परिवार पर अनमोल वचन, परिवार के सुविचार, शायरी, Family quotes SMS msg in Hindi with images, quotes on family values, messages

परिवार पर अनमोल वचन – घर का मुखिया बनना आसान नहीं

घर का मुखिया बनना आसान नहीं है
उसकी हालत टीन के शेड की तरह होती है
जो धूप, बारिश, तूफान, ओलावृष्टि
सब झेलता है, परन्तु
उसके नीचे रहने वाले अकसर कहते हैं कि,
यह आवाज बहुत करता है
और गर्म भी जल्दी होता है ।

कागजों को एक साथ जोड़े रखने वाली
पिन ही कागजों को चुभती है,
उसी प्रकार परिवार को भी वही व्यक्ति चुभता है,
जो परिवार को जोड़ कर रखता हो ।

जिस कॉपी पर सब विषयों को संभालने की जिम्मेदारी होती है
वो अक्सर रफ कॉपी बन जाती है,
परिवार में जिम्मेदार इंसान का भी यही हाल होता है ।

मिट्टी का मटका और परिवार की कीमत
सिर्फ बनाने वाले को पता होती है
तोड़ने वाले को नहीं ।

परिवार हो या संगठन,
सभी में सफलता का कारण है
एक दूसरे के विचारों को धैर्य से
सुनना, समझना और सम्मान देना ।

जो दिन परिवार के साथ बीते
वो ज़िन्दगी हैं और जो दिन
परिवार के बिना बीते वो उम्र है।

परिवार पर अनमोल वचन – माँ

माँ के बाद सिर्फ हिम्मत ही मनुष्य का साथ देती है,
जो मनुष्य को कभी हारने नहीं देती ।

दोनों समय का भोजन माँ बनाती है तो
जीवन भर भोजन की व्यवस्था करने वाले पिता को हम सहज ही भूल जाते हैं।

चखे हैं जाने कितने जायके महंगे मगर ए-माँ
तेरी चूल्हे की रोटी सारे पकवानों पे भारी है ।

परिवार पर अनमोल वचन – माता-पिता की कीमत

संघर्ष पिता से सीखिये..!
संस्कार माँ से सीखिये…!!
बाकी सब कुछ दुनिया सिखा देगी ।

माँ घर का गौरव तो पिता घर का अस्तित्व होते हैं ।
माँ के पास ममता तो पिता के पास संयम होता है ।

माता-पिता के बिना
घर कैसा होता है
अगर इसका अनुभव करना है तो,
एक दिन अपने अँगूठे के बिना
सिर्फ अंगुलियों से
काम करके देख लो
माता-पिता की कीमत
पता चल जाएगी ।

छोटी मगर बहुत बड़ी बात
पानी अपना पूरा जीवन देकर पेड़ को बड़ा करता है,
इसलिए शायद पानी लकड़ी को कभी डूबने नहीं देता।
माँ- बाप का भी कुछ ऐसा ही सिद्धांत है।

भीगने का अगर शौक हो तो
आकर अपने माता-पिता के चरणों में बैठ जाना
ये बादल तो कभी कभी बरसते हैं
मगर माता-पिता की कृपा हर पल बरसती है ।

कभी ठोकर या चोट लगे तो मुँह से ‘ओ माँ’ ही निकलता है ,
लेकिन सड़क पार करते समय कोई कार पास आकर ब्रेक लगाए तो
‘अरे बाप रे’ यही मुँह से निकलता है ।
क्योंकि छोटी छोटी तकलीफों के लिये माँ है और
बड़े-बड़े संकट आने पर पिता ही याद आते हैं ।
माता – पिता एक पेड़ हैं जिनकी शीतल छाँव में
पूरा परिवार खुशी से रहता है ।

बूढ़े हो जाते हैं माँ बाप
औलाद की फिक्र में ।
औलाद समझती है
असर उन पर उम्र का है ।

माँ-बाप – माँ परिवार की धरती है और पिता वट वृक्ष

जिंदगी में दो लोगों का ख्याल रखना बहुत जरूरी है                                              
पिता, जिसने तुम्हारी जीत के लिए सब कुछ हारा हो !                                                
माँ, जिसको तुमने हर दुःख में पुकारा हो ।

मिलने को तो हजारों मिल जाते हैं 
लेकिन हजारों गलतियों को माफ करने वाले माँ-बाप
दोबारा नहीं मिलते ।

दुनिया में सिर्फ माँ-बाप ही ऐसे हैं
जो बिना स्वार्थ के प्यार करते हैं ।

घर की इस बार मुकम्मल मैं तलाशी लूँगा,
ग़म छुपा कर मेरे माँ-बाप रखते कहाँ हैं ।

माँ परिवार की धरती है तो
पिता उस परिवार का वह वट वृक्ष है
जिनकी शीतल छाँव के नीचे
संतान धरती (माँ) की गोद मे बैठ कर सुस्ताते हैं ।

परिवार पर अनमोल वचन सुविचार – माता-पिता का छोटा सा पैगाम

जिस दिन तुम हमें बूढ़ा देखो, तब सब्र करना और
हमें समझने की कोशिश करना ।

जब हम कोई बात भूल जाएँ
तो हम पर गुस्सा न करना और
अपना बचपन याद करना ।

जब हम बूढ़े होकर चल न पाएँ तो
हमारा सहारा बनना और अपना पहला
कदम याद रखना ।

जब हम बीमार हो जाएँ तो वो दिन
याद करके अपने पैसे खर्च करना जब
हम तुम्हारी ख्वाहिशें पूरी करने के लिए
अपनी ख्वाहिशें कुर्बान करते थे ।

Family emotional quotes – भाई-बहन

बिना भाई के साथ के जब रावण हार सकता है
और भाई के साथ से श्रीराम जीत सकते हैं,
तो हम किस घमंड में हैं
सदा साथ रहिये, कोशिश करें कि परिवार कभी न टूटे ।

कभी माता-पिता की याद आए
तो भाई बहन मिलकर बैठा करो
किसी के चेहरे में माँ मुस्कुराती नज़र आएगी
और किसी के लहजे में पिता दिख जाएंगे ।

परिवार पर अनमोल वचन सुविचार – औरत के बिना कोई घर
घर नहीं होता

प्यार – परवाह – शरारत
और थोड़ा सा समय,
यही वो दौलत है
जो अक्सर हम
हमारे अपनों से चाहते हैं ।

स्त्री की तारीफ कीजिये
उसमें कोई शक नहीं है
क्योंकि
वह खुद का घर छोड़ कर आती है
पर पुरुष भी कम
तारीफ-ए-काबिल नहीं है
जो अंजान स्त्री को
खुद का पूरा घर सौंप देता है ।

जो लोग कहते हैं कि
औरत का कोई घर नहीं होता
माफ करना
औरत के बिना कोई घर
घर नहीं होता ।

औरत को कमअक्ल का
ताना देने वाले लोग
उसकी ज़रा सी अदा पर
अपनी अक्ल खो देते हैं ।

Family emotional quotes – परिवार से बड़ा कोई धन नहीं

परिवार से बड़ा कोई धन नहीं,
पिता से बड़ा कोई सलाहकार नहीं
माँ की छाँव से बड़ी कोई दुनिया नहीं,
भाई से अच्छा कोई भागीदार नहीं
बहन से अच्छा कोई शुभचिंतक नहीं,
इसलिए परिवार से बड़ा कोई जीवन नहीं ।

जिंदगी का खूबसूरत
लम्हा कौन सा होता है?
जब आपका परिवार आपको
दोस्त समझने लगे
और
आपके दोस्त आपको
अपना परिवार ।

बहुत फर्क होता है मजे और आनंद मे
मजे के लिए पैसो की जरूरत होती है और
आनंद के लिए सिर्फ परिवार और मित्र की।

परिवार ही वो एकमात्र जगह है,
जहाँ आपको आपकी सारी कमियों के साथ
स्वीकार किया जाता है।

व्यवहार घर का कलश
और इंसानियत घर की तिजोरी कहलाती है ।
मधुर वाणी घर की धन-दौलत और
शांति घर की लक्ष्मी कहलाती है।
पैसा घर का मेहमान और
एकता घर की ममता कहलाती है ।
व्यवस्था घर की शोभा
और समाधान ही घर का सच्चा सुख कहलाता है ।

घर के बाहर भले ही
दिमाग ले जाओ
क्योंकि बाहर एक बाजार है,
लेकिन घर के अंदर सिर्फ दिल ले जाओ
क्योंकि वहाँ एक परिवार है।

परिवार पर अनमोल वचन – परिवार जिंदगी की जड़

ताक़त और पैसा ज़िन्दगी के फल हैं,
परिवार और मित्र जिन्दगी की जड़ हैं,
हम फल के बिना अपने आप को चला सकते हैं,
पर,
जड़ के बिना खड़े नहीं हो सकते हैं ।

रोटी कमाना कोई बड़ी बात नहीं है
लेकिन परिवार के साथ रोटी खाना बड़ी बात है ।

पैसा तो हर कोई कमा लेता है
लेकिन खुशनसीब है वो,
जो परिवार कमाता है ।

बात बनती है दिल से,
दिल बनता है दोस्ती से,
दोस्ती बनती है प्यार से,
प्यार बनता है परिवार से
परिवार बनता है घर से,
और घर बनता है अपनों से ।

सिर्फ रक्त संबंधों से परिवार नहीं बनता जनाब,
मुश्किल में थामने वाले हर हाथ परिवार के सदस्य होते है।

परिवार पर अनमोल वचन – परिवार की एकता

परिवार घड़ी की सुईयों जैसा होना चाहिये,
कोई छोटा हो, कोई बड़ा हो,
कोई स्लो हो, कोई फास्ट हो,
पर जब किसी के 12 बजाने हो तो सब साथ हो ।

पत्थर तब तक सलामत है,
जब तक वो पर्वत से जुड़ा है ।
पत्ता तब तक सलामत है,
जब तक वो पेड़ से जुड़ा है ।
इंसान तब तक सलामत है,
जब तक वो परिवार से जुड़ा है ।
क्योंकि,
परिवार से अलग होकर
आज़ादी तो मिल जाती है
लेकिन
संस्कार चले जाते हैं ।

अगर शहद जैसा मीठा
परिणाम चाहिये, तो
मधुमक्खियों की तरह
एक रहना ज़रूरी है ।
चाहे वो दोस्ती हो
या परिवार ।

एक पत्थर लीजिये ओर उस पत्थर को
किसी जानवर कुत्ते बिल्ली को मारिये
आप देखेंगे कि जानवर डर के भाग जायेगा अब
फिर वही पत्थर लीजिये और
एक मधुमक्खी के छत्ते पर मारिये
फिर देखियेगा कि मधुमक्खियाँ आपका क्या हाल करती हैं
पत्थर वही है और आप भी वही हैं बस फर्क इतना है कि
जानवर अकेला था और मधुमक्खियाँ समूह में थी
संयुक्त परिवार और एकता में ही शक्ति है ।
यदि संभव हो तो संयुक्त रहें संगठित रहें ।

परिवार का महत्व

परिवार में –
कायदा नही व्यवस्था होती है
परिवार में –
सूचना नही सिर्फ समझ होती है
परिवार में –
कानून नही अनुशासन होता है
परिवार में –
भय नही सिर्फ भरोसा होता है।
परिवार में –
शोषण नही सिर्फ पोषण होता है
परिवार में –
आग्रह नही सिर्फ आदर होता है
परिवार में –
सम्पर्क नही सम्बंध होता है
परिवार में –
अर्पण नही सिर्फ समर्पण होता है
इसलिये स्वयं को परिवार से जोड़े रखें।

परिवार पर अनमोल वचन और पढ़िए –

कल न हम होंगे न कोई गिला होगा

गृहस्थी को कुछ ऐसे बचा लिया

प्रेम देना सबसे बड़ा उपहार

Exit mobile version