अनमोल वचन

बोल मीठे न हों तो

बोल अनमोल वचन सुविचार शायरी

मनुष्य को वाक क्षमता मिली है तो वह उसका दुरुपयोग भी करता है, जैसे कि कड़वे वचन कहना, श्राप देना, झूठ बोलना या ऐसी बातें कहना जिससे कि भ्रमपूर्ण स्थिति का निर्माण होकर देश, समाज, परिवार, संस्थान और धर्म की प्रतिष्ठा गिरती हो।
और देखें – बात वो करो

बोलने से ही हम जाने जाते हैं और बोलने से ही हम विख्यात या कुख्‍यात भी हो सकते हैं। उतना ही बोलना चाहिए जितने से जीवन चल सकता है। व्यर्थ बोलते रहने का कोई मतलब नहीं। भाषण या उपदेश देने से श्रेष्ठ है कि हम बोधपूर्ण जीवन जीकर उचित कार्य करें।
और पढ़ें – ‘लफ्ज़’ ही ऐसी चीज़ है.

बोल शायरी – Bol Shayari in Hindi

बोल मीठे न हों तो हिचकियाँ भी नहीं आतीं;
कीमती मोबाइलों पर घंटियाँ भी नहीं आती;
घर बड़ा हो या छोटा, गर मिठास न हो तो;
इंसान तो क्या चीटियाँ भी नहीं आतीं ।

और पढ़ें – शब्दों का वजन

मीठे बोल बोलिए;
क्योंकि;
अल्फाजों में जान होती है,
इन्हीं से आरती, अरदास और अजान होती है,
ये दिल के समंदर के वो मोती हैं,
जिनसे इंसान की पहचान होती है ।

इन्हें भी पढ़ें – बोलने से पहले लफ्ज

बोल सुविचार – Bol suvichar in Hindi

बोल अनमोल वचन सुविचार शायरी

बोलना और प्रतिक्रिया
करना जरूरी है,
लेकिन, संयम और सभ्यता का
दामन नहीं छूटना चाहिये।
आजाद रहिये विचारों से
बंधे रहिये संस्कारों से।

इन्हें भी पढ़ें – सादगी अगर हो लफ्जों में

यदि आप ही बोलते रहेंगे तो केवल
वही दोहरायेंगे जो आप जानते हैं
किन्तु अगर आप दूसरों को सुनते हैं
तो कुछ नया जानेंगे ।

बोल अनमोल वचन सुविचार शायरी

बोली बता देती है इंसान कैसा है ।
बहस बता देती है ज्ञान कैसा है।
घमण्ड बता देता है कितना पैसा है ।
संस्कार बता देते हैं परिवार कैसा है ।
भरोसा करते वक्त
होशियार रहिये
क्योंकि फिटकरी और मिश्री
एक जैसे ही नजर आते हैं ।

ये भी अच्छा है कि
सिर्फ सुनता है दिल
अगर बोलता तो
कयामत होती ।

जुबान का वजन बहुत कम होता है,
लेकिन इसे बहुत कम लोग ही संभाल पाते हैं ।

Tags
Show More

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close