Home / अनमोल वचन / जीवन के 6 सत्य
जीवन के 6 सत्य

जीवन के 6 सत्य

जीवन के 6 सत्य:-

  1. कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कितने खूबसूरत हैं ?
    क्योंकि लंगूर और गोरिल्ला भी अपनी ओर लोगों का ध्यान आकर्षित कर लेते हैं ।
  2. कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपका शरीर कितना विशाल और मज़बूत है ?
    क्योंकि श्मशान तक आप अपने आपको नहीं ले जा सकते ।
  3. आप कितने भी लम्बे क्यों न हों,
    मगर आने वाले कल को आप नहीं देख सकते ।
  4. कोई फर्क नहीं पड़ता कि, आपकी त्वचा कितनी गोरी और चमकदार है ।
    क्योंकि अँधेरे में रोशनी की जरूरत पड़ती ही है ।
  5. कोई फर्क नहीं पड़ता कि ” आप ” नहीं हँसेंगे तो सभ्य कहलायेंगे ?
    क्योंकि ” आप ” पर हँसने के लिए दुनिया खड़ी है ।
  6. कोई फर्क नहीं पड़ता कि, आप कितने अमीर हैं ? और दर्जनों गाड़ियाँ आपके पास हैं ?
    क्योंकि घर के बाथरूम तक आपको चल कर ही जाना पड़ेगा ।

इसलिए संभल कर चलिए …ज़िन्दगी का सफर छोटा है , हँसते हँसाते काटिये, आनंद आएगा ।




जीवन के 6 सत्य:-

  1. नंगे पाँव चलते “इन्सान” को लगता है कि “चप्पल होते तो कुछ अच्छा होता”
    बाद में… “साइकिल होती तो कितना अच्छा होता”
  2. उसके बाद में……… “मोपेड होता तो थकान नही लगती”
  3. बाद में……… “मोटर साइकिल होती तो बातो-बातो में रास्ता कट जाता”
  4. फिर ऐसा लगा कि……… “कार होती तो धूप नही लगती”
  5. फिर लगा कि, “हवाई जहाज होता तो इस ट्रैफिक का झंझट नही होता”
  6. जब हवाई जहाज में बैठकर नीचे हरे-भरे घास के मैदान देखता है तो सोचता है, कि
    ??????????????
    “नंगे पाव घास पर चलता तो दिल को कितनी “तसल्ली” मिलती”इन्सान की चाहत है कि उड़ने को पर मिले,
    और परिंदे सोचते हैं कि रहने को घर मिले..
  7.  




  1. आपके पास मारुति हो या बीएमडब्ल्यू;
    – सड़क वही रहेगी ।
  2. आप टाइटन पहने या रोलेक्स;
    – समय वही रहेगा ।
  3. आपके पास मोबाइल एप्पल का हो या सेमसंग;
    – आपको कॉल करने वाले लोग नहीं बदलेंगे ।
  4. आप इकॉनामी क्लास में सफर करें या बिज़नस में;
    – आपका समय तो उतना ही लगेगा ।
  5.  कमाई छोटी या बड़ी हो सकती है;
    – पर रोटी की साईज़ लगभग सब घर में एक जैसी ही होती है।
  6. भव्य जीवन की लालसा रखने या जीने में कोई बुराई नहीं हैं,
    लेकिन सावधान रहे क्योंकि आवश्यकताएँ पूरी हो सकती है, तृष्णा नहीं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.